What is Web 3.0 in Hindi? Web 3.0 क्या है ?

नमस्कार दोस्तों, आज हम बात करेंगे about web 3.0 in hindi – इस समय वर्ल्ड बहुत तेजी से आगे बढ़ रहा है, हर रोज नई-नई चीज़ें बाहर निकल कर आ रही हैं।

अगर हम अपने ही फील्ड की बात करें तो crypto currency अभी लोगों को पता ही नहीं चल पाया था की यहाँ पर decentralized finance का जन्म हुआ, यहाँ पर NFT(Non Fungile Token) का जन्म हुआ, यहाँ पर इस समय Metaverse और इन सब चीजों के बीच में एक बहुत बड़ी technology निकल कर आ रही है जो कि वह Web 3.0 in hindi.

सुनने में तो यह शब्द नया लगता है पर मैं आपको बता दूँ की यह पूरी दुनिया का जो इंटरनेट है वह चेंज कर रख देगा।

हो सकता है कि अभी आपके कानों को विश्वास नहीं हो क्योंकि आप बहुत लंबे समय से इंटरनेट को यूज करते आ रहे हैं और आप के मुताबिक अभी का जो इंटरनेट चल रहा है, यही एक advanced version है।

पर दोस्तो, इस समय इस इंटरनेट में बहुत सारे errors हैं और समय-समय पर हर चीज अपडेट होती है। जिस तरह से आपका मोबाइल, आपकी गाड़ी और आपका घर अपग्रेड होता है बिल्कुल इसी प्रकार से इंटरनेट को इस समय अपग्रेड होने की जरूरत है।

Web 3.0

Introduction to Web 1.0 and Web 2.0 | Web 1.0 और Web 2.0 क्या हैं?

तो थोड़ा पीछे लेकर जाना चाहूंगा 1991-2004 तक web 1.0 ने काम किया। इस समय में हम लोग static website को use किया करते थे।

जो भी blogger/developer जो भी इंटरनेट के ऊपर डालता था वो केवल static रहता है यानी कि देखने वाले यूजर उसके ऊपर कुछ रिप्लाई या फिर उसको लेकर कुछ interaction या फिर सवाल-जवाब नहीं कर सकते।

Web 1.0 में केवल और केवल One Side Interaction रहती थी और जो चीज़ लिख दी जाती थी बिल्कुल उसी प्रकार से वो चीज़ जाकर चला करती थी।

पर 2004 में एक नया web introduce हुआ जिसका नाम था web 2.0. Web 2.0 के बाद बहुत सारी चीजों में चेंज आ गया। इसके बाद सोशल मीडिया निकल कर आया और फेसबुक आई। आज के दिन में हम Instagram, twitter etc. जैसे बहुत सारे सोशल मीडिया apps को यूज करते हैं।

यह सारे के सारे मीडिया two way interactions के ऊपर काम करते हैं। यानी कि अगर आपने कुछ पोस्ट डाला तो उसके ऊपर कोई रिप्लाई कर सकता है। अगर आपने कुछ ब्लॉक डाला तो उसके ऊपर कोई रिप्लाई कर सकता है। आपने कुछ फोटो डाला तो लाइक और कमेंट कर सकता है। अगर अपने यूट्यूब के ऊपर कुछ वीडियो डाला तो उसके कमेंट बॉक्स में अपने रिव्यूज दे सकता है।

इसका मतलब है की web 2.0 पूरा का पूरा interaction based दौर रहा। Web 2.0 इस समय तक चल रहा है जो कि 2004 से start हुआ था। पर इस पूरे के पूरे system में कुछ errors थे।

देखने में आया कि फेसबुक, यूट्यूब जितने भी platforms है। यहाँ पर सारे के सारे लोग इन platforms के ऊपर आकर अपने अकाउंट को क्रिकेट करते थे और क्रिएट करने के बाद उन प्लेटफोर्म को यूज करते थे।

Ultimately, पूरे के पूरे वर्ल्ड का डाटा किसी एक कंपनी के पास जा रहा था। यानि कि किसी organization, किसी एक विशेष व्यक्ति के पास जा रहा था। वो व्यक्ति उस डाटा के साथ कुछ भी गलत कर सकता था। बहुत बार सुनने में आया है कि फेसबुक ने सब यूजर्स का डाटा बहुत बड़ी-बड़ी कंपनी को और Politicians को यहाँ पर बेचा है। गूगल के ऊपर भी ये बहुत बार इल्जाम लगा है।

तो इस पूरे के पूरे Web 2.0 में जो भी लोगों का डाटा है वो particularly कुछ servers के पास रहता है और वह सर्वर किसी लोगों के रहते हैं, उन डाटा को किसी भी समय अच्छे और बुरे काम दोनों के लिए यूज कर सकते हैं।

Web 2.0 में एक और error बहु बड़ा देखा गया है। Web 2.0 में Internet Connectivity को लेकर किसी भी समय किसी भी जगह के ऊपर बंद किया जा सकता है और वहाँ पर लोगों का डाटा किसी भी तरीके के साथ यूज किया जा सकता है।

इसे भी देखें :-

WEB 3.0 NEXT DECENTRALISED WORLD

What is the need of Web 3.0? Web 3.0 की ज़रुरत क्यों है?

यानी की दो बड़े concerns web 2.0 में – पहला Protection और दूसरा Data को लेकर। ये दोनों बहुत बड़े concerns हैं जिनके ऊपर बहुत लम्बे समय से चर्चा हो रही थी कि किस तरह से इस चीज को save किया जा सकता है। किस तरह से सब लोगों का डाटा किसी एक व्यक्ति के पास ना जाए, किसी एक कंपनी के पास ना जाए इस को किस तरह से बचाया जा सकता है और इस बीच में जन्म होता है Web 3.0 का।

What is Web 3.0 in hindi? Web 3.0 क्या है ?

Web 3.0 in hindi एक ऐसा प्रोजेक्ट है जहाँ पर पूरा का पूरा world decentralized तरीक से पूरे के पूरे इंटरनेट को use करेगा। आज की date में अगर हम यूट्यूब को यूज करते हैं और हम अगर वीडियो को यूट्यूब platform पर upload करते हैं तो वो वीडियो यूट्यूब के सर्वर के ऊपर जाकर स्टोर होती है। अब अगर यूट्यूब चाहे तो हमारी वीडियो को बिना किसी परमिशन से डिलीट कर सकता है।

YouTube चाहे तो हमारा चैनल भी बंद कर सकता है और ऐसा यूट्यूब हर रोज कितने Influencers के साथ करता रहा है।

Facebook के ऊपर भी ये बहुत errors देखें गए हैं। बहुत बड़ी-बड़ी वेब साइट है जहाँ पर गूगल उन websites को अपने index में लिस्ट ही नहीं करता।

ये सारी की सारी चीज़ें इसलिए हो पाती है क्योंकि ये सारा का सारा जो डाटा है वो particularly कुछ लोगों के पास, कुछ server, कुछ particular लोगों के दायरे में आता है।

Web 3.0 in hindi के launch होने के बाद ये सारी की सारी चीजें खत्म हो जाएगी। यहाँ पर जो भी डाटा अपलोड होगा वो decentralized तरीके से पूरी की पूरी blockchain में divide हो जाएगा और पूरे वर्ल्ड में जितने भी लोग बैठे होंगे वो सारे के सारे मिलकर हर एक प्लेटफॉर्म को यहाँ पर run करेंगे।

For Example: अगर यूट्यूब इस समय centralized है, तो हो सकता है कि कल को एक “ABC” platform आये जो की decentralized रहेगा और बिल्कुल यूट्यूब की तरह काम करेगा, पर वहाँ पर data किसी एक सर्वर के ऊपर नहीं होगा बल्कि जितने भी लोग वहाँ पर उस platform को चला रहे होंगे वो सारे के सारे लोगों के पास वो डाटा अपलोड होगा।

जिस तरह bitcoin है। मेने अगर आपको अपना Bitcoin बेचना होगा या फिर आपने मुझे बेचना है तो बीच में combiner बैठकर उस algorithm को solve करता है तो उसके बदले में उसको bitcoin की फॉर्म में reward मिलता है।

बिलकुल इसी प्रकार से पूरा का पूरा सिस्टम decentralized होगा और जब मैं किसी चीज को अपलोड करुंगा यहाँ पे आप किसी चीज को डाउनलोड करेंगे तो वो पूरी की पूरी blockchain के ऊपर transactions को route किया जायेगा।

उसके बदले में जो ये लोग काम कर रहे होंगे उनको यहाँ पर रिवॉर्ड मिलेगा। कुछ in form of crypto currency और या फिर उस समय जो cryptocurrency चल रही है जो platform के ऊपर native है, उसके form में reward यहाँ पर मिलेगा।

Web 3.0 को hack करना भी possible नहीं रहेगा। बहुत बार सुनने में आता है कि twitter hack हो गया और ट्रंप twitter हैंडल किसी hacker ने hack करके वहाँ पर लोगों से कुछ cryptocurrency मांगी या फिर कुछ गलत वहाँ पर लिख दिया।

पर web 3.0 in hindi में ऐसे नहीं होगा जब सारा का सारा वर्ल्ड एक ही साथ किसी एक project को चला रहा होगा तो एक ही समय पर सब लोगों की सिस्टम को hack करना पॉसिबल नहीं है। इसी वजह से कहा जाता है कि bitcoin ko hack करना possible नहीं है क्योंकि यहाँ पर पूरा का पूरा डाटा एक server पर नहीं बल्कि पूरे वर्ल्ड के जितने भी लोग mining कर रहे हैं, उन सब लोगों के पास equally या फिर उनकी माइनिंग पॉवर के मुताबिक divide किया गया है।

अब इसी तरह से Web 3.0 में किसी भी चीज को हैक करना possible नहीं रहेगा। किसी भी चीज का डाटा breech करना भी पॉसिबल नहीं रहेगा।

अगर by chance किसी hacker ने, किसी के सिस्टम को हैक कर भी लिया तो वहाँ पर केवल आपकी particular फाइल corrupt होगी । But पूरा का पूरा जो आपका डाटा है वो एक जगह पर Save रहेगा।

Web 3.0 in hindi के बाद किसी भी चीज को आप कह सकते corruption में लेकर आ पाना वो भी यहाँ पर possible नहीं रहेगा। Web 3.0 के बाद किसी एक कंपनी को power करने के बजाए पूरा का पूरा वर्ल्ड impower होगा और वहाँ पर पूरा का पूरा वर्ल्ड equally यहाँ पर grow करेगा।

पूरे के पूरे world को web 3.0 करने के लिए crypto currency यहाँ पर main role अदा करेगी क्योंकि crypto currency के बिना decentralized किसी भी वर्ल्ड के सिस्टम को run नहीं किया जा सकता हूँ की जब भी कोई decentralized system run होता है तो वहाँ पर बहुत सारे लोग भागीदार होते है और बहुत सारे लोग किसी तरह से इसीलिए भागीदार होते हैं क्योंकि उनको वहाँ पर कुछ ना कुछ reward मिल रहा होता है।

अब यहाँ पर आती है बात, ऐसे कौन-कौन से crypto currency के projects हैं जो यहाँ पर बड़ा हल्ला कर सकते हैं। Filecoin, Kusama & ICP (Internet Computer) यह इसी चीज़ के लिए प्रोजेक्ट डिज़ाइन किये गए हैं।

आज से कुछ समय पहले यानी कि मात्र 20-50 दिन पहले meta verse का बहुत बड़े लेवल के ऊपर boost आया, जब facebook ने announce किया कि वो meta verse की दुनिया में आ रहा है।

बिल्कुल इसी प्रकार से हो सकता है कि आने वाले कुछ दिनों के अंदर-अंदर कोई बडी कंपनी announce कर दे की अब web 3.0 के ऊपर काम करने वाले हैं और उसके बाद इन सारे के सारे प्रोजेक्ट में बहुत बड़ा boost दिखाई देगा।

दोस्तो, ICP (Internet Computer) जैसे projects dedicate हैं इस तरह के platforms के लिए और वो web 3.0 के लिए ही काम करते हैं।

Web 3.0 in hindi पूरी दुनिया का future है। बिलकुल आज आप को समझ नहीं आएगा जिस तरह से आपको bitcoin 2011-2012-2016 तक समझ नहीं आया। जिस तरह से लोग कहते थे कि क्या कुछ painting NFT के माध्यम से लाखों रूपये की बिक सकती है।

बिल्कुल उसी प्रकार से जिस तरह से लोगों को लगता है कि meta verse कभी आई नहीं सकता। इसी तरह से web 3.0 in hindi भी आपकी जिंदगी में आकर बैठ जाएगा। अगर आज विश्वास कर लेंगे तो पैसा कमा लेंगे।

अगर कल को विश्वाश करेंगे तो हो सकते हैं कि विश्वास हो जाये बढ पैसा आपकी जेब में ना पाए।


इसे भी पढ़ें:

An aspiring BCA student formed an obsession with Computer/IT education, Graphic Designing, Fitness, YouTube and Blogging, and Helping Beginners to learn these skills and implement them in their life.

Share the Post:

Leave a Comment